अनिल जांगिड़ – ब्लॉगिंग कैरियर व अन्य किस्से | Anil Jangir’s Story

नमस्कार! कैसे हो आप? उम्मीद करता हूँ कि आप बहुत अच्छे होंगे। मैं हूँ आपका दोस्त अनिल जांगिड़। इस पोस्ट में, मैं आपको मेरे जन्म से लेकर वर्तमान समय तक की उन सभी घटनाओं को बताऊंगा जो कि मेरे जीवन में घटित हुई हैं। मुझे पूरी उम्मीद है कि आपको मेरी कहानी जरूर इंस्पायर करेगी तथा इससे आपको कुछ सीखने को जरूर मिलेगा।

मेरी जीवनी की इस पोस्ट को शुरू करने से पहले मैं उन सभी व्यक्तियों व प्राणियों को धन्यवाद करता हूं जिन्होंने मेरे लिए कष्ट झेला, मेरी मदद की, मेरा साथ दिया, मुझे सिखाया, दिशा निर्देशन किया। उन सब का मैं सदा आभारी रहूँगा।

अनिल जांगिड़ (Anil Jangir)
अनिल जांगिड़

उच्चतर शिक्षा व कॉलेज लाइफ

2019 की जून में, कक्षा बारहवीं के बाद मैंने दिल्ली विश्वविद्यालय के एडमिशन का फॉर्म भर दिया था। मात्र 1 महीने के बाद मैं अपने पापा जी के साथ दिल्ली में एडमिशन लेने के लिए गया। मैंने एक नॉर्थ कैंपस के एक अच्छे कॉलेज में दाखिला ले लिया। 

दिल्ली विश्वविद्यालय के नियम व शिक्षा के तरीके मेरे लिए काफी नए थे क्योंकि हमारे विद्यालयों में मातृभाषा में पढ़ाया जाता था, पर दिल्ली विश्वविद्यालय में विदेशी भाषा – अंग्रेजी में पढ़ाया जाता है। 

परिवेश के अनुकूल बनने के लिए मुझे 3 महीने लगे और मैं धीरे-धीरे अंग्रेजी पर भी अपनी पकड़ बना रहा था। कॉलेज में प्रोग्रामिंग लैंग्वेज भी पढाई गई थी जिसमें मुझे शुरुआत में बहुत दिक्कत हुई। पर मैंने उसे भी सीख लिया। 

जुलाई 2019 से मात्र सात-आठ महीनों के बाद कोरोना काल आ गया। जहां तक मुझे याद है यह समय मार्च महीना ही था। 

मार्च 2020 में, कोरोनावायरस की वजह से हम सभी अपने घर पर आ गए और सारी क्लासेज़ जब ऑनलाइन होने लग गई थी। शुरुआत में हम सभी को ऐसा लगा कि हमें हानि हुई है। क्योंकि कॉलेज में रहकर पढ़ना एक अलग तरह का माहौल था। घर में वही क्लासेज़ ऑनलाइन लगना, नया व विचित्र था। 

अनिल जांगिड़ दिल्ली विश्वविद्यालय में अपने दोस्तों के साथ
अनिल जांगिड़ दिल्ली विश्वविद्यालय में अपने दोस्तों के साथ; जनवरी 2020 की फोटो

यह पोस्ट में सितंबर 2021 में लिख रहा हूं, यानी कि मार्च 2020 से लेकर सितंबर 2021 तक मैंने अपने घर से ऑनलाइन शिक्षा ग्रहण की। मुझे यह नहीं पता कि कितने समय तक मुझे ऑनलाइन और पढ़ना होगा। पर मैंने बीएससी फिजिक्स ऑनर्स में एडमिशन लिया है तो यह तो निश्चित ही है कि मुझे 3 वर्ष तक ही अध्ययन करना है। इसमें अब मात्र 10 महीने ही और बचे हैं उसके बाद में ग्रेजुएट हो जाऊंगा। 

इतना समय बीत जाने के बाद मैंने वहां पर कई सारे दोस्त बनाए जो आज भी मेरे करीबी हैं। 

ब्लॉगिंग कैरियर व अन्य साइड वर्क

कोरोनावायरस के चलते सभी क्लासेज फिजिकल मोड से ऑनलाइन मोड पर आ गई थी। इस समय का मैंने बहुत फायदा उठाया। शुरुआती समय में ही मैंने अलग-अलग तरह की पुस्तकें पढ़ने शुरू की। 

धीरे-धीरे मैं ब्लॉगिंग में आ गया। कुछ यूट्यूबर लोगों को मैं फॉलो करता था जो हमेशा ही इंस्पायरिंग वीडियो लेकर आते थे। मैं उनकी वीडियो हमेशा देखा करता था। उनसे मुझे बहुत सारी प्रेरणा मिली और मैंने भी अपना ब्लॉग शुरू किया। मैंने अपना पहला ब्लॉग मार्च 2021 में शुरू किया था, यानी कि पूरे 1 साल बाद।

मार्च महीने में मैंने hindivibes.com डोमेन नेमचिप कंपनी से खरीद लिया। इस डोमिन को खरीदने के बाद मुझे पता चला कि इस डोमेन के लिए मुझे एक होस्टिंग भी चाहिए। 

होस्टिंग को खरीदने के लिए मैंने कई सारे यूट्यूब वीडियो देखे और कई सारे ब्लॉग पोस्ट पढ़ी। मुझे पता चला कि होस्टिंग के मामले में सबसे अच्छी कंपनी जो उस समय पर थी वह थी fastcomet.com 

वेबसाइट होस्ट करने के बाद, मैंने इस पर कंटेंट लिखना शुरू किया। मुझे पता था कि वही चीज चलेगी जो यूजर को वैल्यू देती है तो मैंने हमेशा ही अच्छे से अच्छे आर्टिकल लिखने की कोशिश की और अच्छे से अच्छा यूजर बिहेवियर बनाने की कोशिश की। 

एक बात मैं आपको जरूर बताना चाहूंता हूँ कि अगर आप भी वेबसाइट बनाना चाहते हैं तो आप डायरेक्ट इस फील्ड में मत आइएगा क्योंकि आपको इस फील्ड में आने से पहले इसकी नॉलेज होना बहुत जरूरी है। 

मैंने भी इस फील्ड में आने से पहले नवंबर 2020 में यूडमी से एक कॉर्स खरीदा था और उसको सीखने के बाद ही मैं मार्च 2021 में इस फील्ड में घूसा। 

अगर आप भी हिंदी ब्लॉगिंग के फील्ड में आना चाहते हैं तो आ सकते हैं। इसमें अभी भी बहुत सारा स्कोप है। गूगल ने पिछले ही वर्षों में बताया था कि अभी 1% ही कंटेंट हिंदी में आया है यानी कि 99% ग्रोथ अभी बाकी है। 

और हां, इस में आने से पहले आप इसकी नॉलेज जरूर लीजिएगा ताकि आप कोई गलती ना करें। चाहे आप यूट्यूब के वीडियो देख सकते हैं या फिर किसी कोर्स को खरीद सकते हैं। 

अगर आप यह मत बना लेते हैं कि आपको इसी फील्ड में आना है तो आप मेरे द्वारा दिए गए इस लिंक से होस्टिंग खरीद सकते हैं। मेरे लिंक के द्वारा खरीदी हुई होस्टिंग पर मुझे कुछ कमीशन मिलेगा। उसके लिए आपको अलग से कोई पेमेंट देने की जरूरत नहीं है। 

Fastcomet.com की होस्टिंग खरीदने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक कीजिए – 

Try Fastcome Hosting (Up to 70% Off)

पुस्तकें जिन्होने मेरी जिन्दगी बदल दी

वह समय था जनवरी 2021, जब मैं और मेरा दोस्त अपने रूम में बैठे थे और हमने एक पुस्तक के बारे में पढा। और यह पुस्तक ‘एटीट्यूड इज एवरीथिंग’ थी जो ‘जैफ केलर’ के द्वारा लिखी गई है। इस पुस्तक को मेरे दोस्त ने ऑनलाइन मंगवा लिया। मैंने यह पुस्तक पढ़ी तो मुझे इससे बहुत सारी नई चीजें सीखने को मिली। 

जैसा कहा गया है कि पुस्तक चाहे कोई सी भी पढ़ो, आपको कुछ न कुछ सिखा कर जरूर जाएगी। यह बात बहुत सही है और मैं भी इस बात को मानता हूं। पुस्तक पढ़ने से व्यक्ति को बहुत सारी चीजें सीखने को मिलती है।

इसके बाद मैंने ‘रिच डैड पुअर डैड’ बुक पढ़ी जो कि फाइनेंस बुक है। इस पुस्तक में आपको बेसिक फाइनेंस के बारे में जानकारी दी गई है। यह बुक आप जरूर पढ़िएगा। 

इसके अलावा भी मैंने बहुत सारी बुक पढ़ी। अगर आप उन पुस्तकों को पढ़ना चाहते हैं तो आप नीचे दिए गए लिंक से खरीद सकते हैं –

पुस्तक का नामलेखक का नाम
एटीट्यूड इज एवरीथिंगजैफ केलर 
रिच डैड पुअर डैडरॉबर्ट कियोसाकी
बुद्धिमान निवेशक  बेंजामिन ग्राहम
अचेतन मन की शक्तिजोसेफ मुर्फी

अंतिम शब्द

तो बस दोस्तो, यह थी मेरी जीवन की अभी तक की कहानी। मैंने अपनी जिंदगी में अभी तक कुछ बड़ा कार्य नहीं किया पर हमें करना जरूर है। ब्लॉगिंग के फील्ड में हमें बहुत अच्छा करना है और नई जॉब क्रिएट करनी है। 

अगर आप भी कोई नई चीज करने की सोच रहे हैं तो उसमें ज्यादा देरी मत लगाइए। आप जितना उस कार्य को शुरु करेंगे आप उस फील्ड में उतने ही सफल होंगे। 

लोगों की बातों से हमें क्या फर्क पड़ता है? आने वाले समय में वही लोग कहेंगे कि आप तो एक फैलियर थे जो आज आपको सफल नहीं होने दे रहे। हमें उन लोगों की बातों को सुनना नहीं है और अपने मन की करनी है। इसलिए आप भी कुछ नया शुरू कर दीजिए जो आपको पसंद है, जिसमें आपकी रुचि है, जिसमें आपका पैशन है। लोग जो कर रहे हैं उन्हें करने दीजिए। 

मुझे उम्मीद है दोस्तों, आपको इस पोस्ट से कुछ न कुछ सीखने को जरूर मिला होगा। अगर हाँ, तो आप मुझे कमेंट करके जरूर बताना। 

यहां तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद। 

नोट: इस आर्टिक्ल के अन्दर Affiliate लिंक हैं। अगर आप ऐसे लिंक पर क्लिक करके कुछ खरीदते हैं तो हम कुछ कमीशन प्राप्त कर सकते हैं। हालाँकि आपको कोई एक्सट्रा पैसा नही लगेगा। अधिक जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

अन्य पढ़ें – स्वामी विवेकानंद जी के अनमोल विचार

Leave a Comment

0 Shares
Share via
Copy link