विराट कोहली – एक अद्भुत खिलाड़ी | Virat Kohli Biography in Hindi

Virat Kohli Biography: विराट कोहली एक भारतीय क्रिकेटर हैं जो वर्तमान समय में भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान भी हैं। विराट अपनी मेहनत के दम पर इस मुकाम पर पहुंच पाए हैं कि इंस्टाग्राम पर आज 26 जून 2021 को उनके 130 मिलियन से भी ज्यादा फॉलोअर्स हैं। उनकी सफलता का श्रेय उनके कड़ी मेहनत को जाता है। विराट आज भी कई घंटों तक शारीरिक कसरत करते हैं जिससे वे हमेशा फिट रहते हैं। तो आइए जानते हैं विराट कोहली के संपूर्ण जीवनी के बारे में।

विराट कोहली (Quick Facts about Virat Kohli)

  1. व्यक्तिगत जानकारी
नामविराट कोहली
उपनामचिकू
जन्म05 नवम्बर, 1988, नई दिल्ली (भारत)
मातासरोज कोहली
पिताप्रेम कोहली
भाईविकास (बड़ा)
बहिनभावना (बड़ा)
पत्नीअनुष्का शर्मा
पुत्रनहीं
पुत्रीवमिका
उम्र32 साल (2021 में)
  1. अन्य जानकारी
ऊंचाई5 फुट, 9 इंच
बैटिंगदाएं हाथ से
रोलएक उच्च पद के बैट्समैन
इनामपदम श्री, अर्जुन अवार्ड, राजीव गांधी खेल रत्न, आईसीसी के अवार्ड्स, व अन्य अवॉर्ड्स
इंस्टाग्राम पर फॉलोअर्स130 मिलियन (26 जून 2021 को)
ट्विटर पर फॉलोअर्स42.6 मिलियन (26 जून 2021 को)
निवेशइंडियन सुपर लीग एफसी गोवा, इंटरनेशनल प्रीमीयर टेनिस लीग यूएई रॉयल्स, Wrogn, Chisel
ब्रांड वैल्यू$92 मिलियन, 2016 में
विराट कोहली क्रिकेट मैदान में हाथ में बल्ला लिए हुए
विराट कोहली – क्रिकेट मैदान में हाथ में बल्ला लिए हुए

विराट कोहली का परिचय (Introduction to Virat Kohli)

विराट कोहली का जन्म 05 नवम्बर, 1988 को नई दिल्ली के पंजाबी-हिन्दू परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम प्रेम कोहली है जो कि एक क्रिमिनल लॉयर थे। विराट की माता सरोज कोहली है जो कि एक ग्रहणी हैं। विराट का एक बड़ा भाई और एक बड़ी बहिन भी है जिनके नाम क्रमशः विकास और भावना है। उनके परिवार के अनुसार जब विराट 3 साल का था तब उसने बल्ला उठाया और अपने पिता को बोल डालने के लिए कहा था।

 विराट को बचपन से ही क्रिकेट से बहुत लगाव था। 1998 में वेस्ट दिल्ली में क्रिकेट अकैडमी की स्थापना हुई थी। विराट के पिता ने उसे इस एकेडमी में प्रवेश दिलवा दिया। आसपास के पड़ोसियों ने भी यही सलाह दी थी कि गली में क्रिकेट खेलने से अच्छा है कि वह स्पोर्ट्स अकैडमी में जाकर खेलें। वहां स्पोर्ट्स अकैडमी में राजकुमार शर्मा ने कोहली को ट्रेनिंग दी।

कोहली खेल के अलावा पढ़ाई में भी होशियार था। उसके अध्यापकों ने उसे एक उज्जवल और सतर्क बच्चा बताया था।

विराट कोहली का शुरुआती कैरियर (Initial Career of Virat Kohli)

 सन 2002 में कोहली अंडर-15 वर्षीय टीम में पोली उम्रीगर ट्रॉफी के लिए खेला। इन  5 पारियों में उसने 172 रन बनाए थे। इस परफॉर्मेंस के बाद, 2003-04 में उसे पोली उम्रीगर ट्रॉफी के लिए टीम का कप्तान  बना दिया गया। उस वर्ष के खेल में कोहली ने पांच पारियों में 390 रन बनाए थे।

वर्ष 2004 के अंत में विराट कोहली को विजय मर्चेंट ट्रॉफी के लिए अंडर-17 वर्षीय टीम में चुना गया। इस मैच में कोहली ने 5 पारियों में 470 रन बनाए थे और उसकी वजह से टीम ने विजय मर्चेंट ट्रॉफी जीत पाई। कुल सात मैचों में कोहली ने 770 रन बनाए थे जो कि सबसे ज्यादा स्कोर था।

 जून 2006 में कोहली को अंडर-19 वर्षीय टीम की तरफ से इंग्लैंड के खिलाफ खेलने के लिए भेजा गया। वहां पर कोहली ने 3 ओडीआई सीरीज में 105 रन बनाए। टेस्ट मैच में भी उसने 49 रन की औसत से हर एक पारी खेली।  इन दोनों मैचों में टीम इंडिया विजेता रही। सितंबर 2006 में भी इंडियन अंडर-19 ईयर टीम पाकिस्तान के खिलाफ भी खेली। इन ओ. डी. आई. मैचों में कोहली ने 41.6 रन तथा टेस्ट सीरीज में 58 रन की औसत से पारियां खेली।

 2006 के अंत में कोहली दिल्ली की तरफ से कर्नाटक के खिलाफ खेलने गया। जिसके बाद उसका नाम प्रसिद्ध हो गया।

विराट के पिता का देहांत (Death of Virat Kohli’s Father)

18 दिसंबर 2006 को स्ट्रोक के कारण विराट कोहली के पिता का देहांत हो गया। उस समय विराट लगभग 16 वर्ष का था। इतनी छोटी उम्र में पिता का साया उठ जाना विराट के लिए बहुत दुखःदायक था। उसके पिता उसके सबसे बड़े सपोर्टर थे। उस समय पर विराट के परिवार के बिजनेस भी अच्छे नहीं चल रहे थे जिससे उन्हें आर्थिक संकट का भी सामना करना पड़ा।

दिसंबर में पिता के देहांत के एक दिन बाद विराट का कर्नाटक के खिलाफ मैच था जिसमें उसने 90 रन बनाए थे। इस खबर से वह सबकी नजरों में आ गए। खेल खत्म होने के बाद वह सीधा अपने पिता के अंतिम संस्कार के लिए गए। 

कोहली की माता ने बताया कि उस दिन के बाद कोहली बदल गया। अब वह हर एक मैच को गंभीरता से लेता था। उस रात से वह एक परिपक्व इंसान बन गया था। उसने क्रिकेट को ही अपना सब कुछ बना दिया था। वह अपने पिता के सपने को पूरा करना चाहता था जो कि उसका भी सपना था।

विराट कोहली अपने पिता के साथ
विराट कोहली अपने पिता के साथ (पुरानी फोटो)

पिता के बाद कोहली का करियर (Carrer of Virat Kohli After Father)

 अप्रैल 2007 में इंटर स्टेट T20 चैंपियनशिप में विराट कोहली ने 35.80 रन की औसत से पारियां खेली। जुलाई-अगस्त 2007 में कोहली को अंडर-19 टीम के तहत श्रीलंका और बांग्लादेश के खिलाफ खेलने के लिए भेजा। जहां पर कोहली दूसरे बेस्ट प्लेयर थे जिसने पांच पारियों में 146 रन बनाए थे।

 फरवरी- मार्च 2008 में मलेशिया में रखे गए आईसीसी अंडर-19 मैच के लिए कोहली को भारतीय टीम का कैप्टन बनाया गया था। उन पांच पारियों में कोहली ने 235 रन बनाए थे। वेस्टइंडीज अंडर-19 टीम के खिलाफ भी कोहली ने शानदार पारी खेली जिसमें उसने 100 रन मात्र 74 बालों में बनाए थे। कोहली को मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया।

 अंडर-19 वर्ल्ड कप में कोहली को $30,000 में आईपीएल की रॉयल चैलेंज बेंगलुरु (RCB) ने खरीद लिया। जून 2008 में कोहली व उसके साथी खिलाड़ियों को द बॉर्डर गावस्कर छात्रवृत्ति दी गई ताकि वे ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आने वाले मैचों में खेल पाएं।

 इसके बाद कोहली ने इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, श्रीलंका, वेस्टइंडीज व अन्य देशों की टीमों के खिलाफ भी कई सारे मैच खेले तथा एक अच्छे बैट्समैन का नाम कमाया

 कोहली को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने 2013 में टीम का कप्तान बनाया। उसके बाद से कोहली रॉयल चैलेंज बेंगलुरु की तरफ से ही आईपीएल में खेल रहे हैं। 2018 में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) ने कोहली को 2.4 मिलियन डॉलर की कीमत देकर टीम में रख लिया।

 धोनी जब कप्तान थे तो उस समय भी कोहली ने शानदार पारियाँ खेली और अपनी एक छवि बनाई, जिससे धोनी ने उनकी प्रशंसा की। इस तरह से, वे दोनों एक-दूसरे के करीबी दोस्त बन गए ।

आईसीसी ने कोहली को 2016 के T20 वर्ल्ड कप के लिए कप्तान बनाया था। वहीं से कोहली ने भारतीय टीम की कप्तानी की जिम्मेदारी संभाली।

यह भी पढे़ंअक्षय कुमार का जीवन परिचय

पारिवारिक जीवन (Personal Life of Virat Kohli)

विराट कोहली ने अनुष्का शर्मा के साथ 2013 से डेट पर जाना शुरू किया। परंतु उन्होंने इस चीज के बारे में कभी  सार्वजनिक रूप से बात नहीं की। लोगों और मीडिया के बीच में कई सारी अफवाहें चलती रही। 

11 दिसंबर, 2017 को विराट व अनुष्का ने फ्लोरेंस, इटली में शादी कर ली। और 11 जनवरी, 2021 को उन्हें एक पुत्री की प्राप्ति हुई जिसका नाम वमिका (Vamika) है।

 2018 में कोहली ने मांस खाना बंद कर दिया क्योंकि उन्हें अंगुली में कुछ दिक्कत हो रही थी जिसकी वजह से वह अच्छा खेल नहीं पा रहे थे। 2021 में विराट ने बताया है कि वह अब पूर्णतया शाकाहारी है।

 कोहली ने यह भी स्वीकार किया है कि वह भगवान में विश्वास रखते हैं तथा वह एक काले धागे के अलावा दाहिनी भुजा में एक कड़ा भी पहनते हैं।

विराट कोहली पत्नी अनुष्का के साथ
विराट कोहली पत्नी अनुष्का के साथ (2021 की फोटो)

विराट कोहली के निवेश व संपत्ति (Investment & Wealth)

2014 में  विराट कोहली इंडियन सुपर लीग एफसी गोवा के कॉ-ऑनर बन गए। वे मानते हैं कि इंडिया में फुटबॉल की प्रसिद्धि भी पढ़नी चाहिए। क्रिकेट हमेशा इतना प्रसिद्ध नहीं रहेगा। तो अपने रिटायरमेंट प्लान के लिए उन्होंने फुटबॉल की कंपनी में निवेश किया है।

 2015 में भी कोहली इंटरनेशनल प्रीमीयर टेनिस लीग यूएई रॉयल्स के भी काऑनर बन गए।

 2014 में कोहली व अंजना रेड्डी की यूनिवर्सल स्पोर्ट्स बिज ने एक रोगन (Wrogn) फैशन ब्रांड को लांच किया। यह ब्रांड पुरुषों के कपड़े व अन्य सामान बनाने का काम करता है। यह ब्रांड, मिंत्रा व शॉपर्स-स्टॉप के साथ अपने सामान बेचता है। 

2015 में कोहली ने 13 मिलियन डॉलर देश में जिम व फिटनेस सेंटर शुरू करने के लिए लगाए जो कि चिजल (Chisel) के नाम से शुरू किए गए। इस बिजनेस में उनके साथ कई अन्य लोगों की भी पार्टनरशिप हैं।

विराट कोहली के फॉलोअर्स (Followers of Virat Kohli) 

विराट कोहली के सोशल मीडिया हैंडलफॉलोवर्स की संख्या  (26 जून 2021 को)
इंस्टाग्राम 130+ मिलियन
टि्वटर42.6+  मिलियन

 मार्च 2021 में विराट कोहली पहले भारतीय थे जिनके इंस्टाग्राम पर 100 मिलियन से ज्यादा फॉलोअर्स थे।

ब्रांड वैल्यू (Brand Value) 

इन्वेस्टमेंट के अलावा, विराट कोहली कई कंपनियों की स्पॉन्सरशिप भी करते हैं जिससे वे अच्छा खासा पैसा बनाते हैं और उसे लोगों में दान भी देते हैं। 2017 में कोहली ने पुमा के साथ $14 मिलियन की डील साइन की जो उन्हें सबसे महंगे स्पोर्ट्समैन बना देती है। 

अप्रैल 2021 में आईपीएल व विवो ने कोहली को अपने ब्रांड एंबेसडर बनाया है। अक्टूबर 2016 में Deff & Phelps के अनुसार, कोहली की ब्रांड वैल्यू 92 मिलियन डॉलर थी ।

कोहली के द्वारा किए गए दान (Charaties of Virat Kohli)

 2013 में कोहली ने विराट कोहली फाउंडेशन (वीकेएफ) की शुरुआत की जो गरीब बच्चों को सहायता प्रदान करती है। 2014 के इबे (eBay) और सेव-टू-चिल्ड्रन इंडिया ने दान समारोह का आयोजन किया गया जिन्होंने इस फाउंडेशन को सहायता प्रदान की।

 2021 में भी कोहली ने की ‘कीटो’ नाम का एक प्लेटफार्म बनाया है जो कोरोना से प्रभावित लोगों को फ्री में ऑक्सीजन व अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराती हैं। वर्तमान समय में भी कोहली ने कोरोनावायरस से प्रभावित लोगों की मदद की जो कि एक अच्छे खिलाड़ी की पहचान है। वह आज भी अपने शरीर को फिट रखने के लिए जिम में घंटों मेहनत करते हैं।

 मुझे उम्मीद है दोस्तों आपको विराट कोहली का यह जीवन परिचय (Virat Kohli Biography) काफी प्रेरणादाई लगा होगा। अगर आपका कोई भी सुझाव या प्रश्न है तो आप हमें कमेंट करके नीचे बता बता सकते हैं।

अन्य पढ़ें –

Leave a Comment

0 Shares
Share via
Copy link